भोपाल । प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के अस्पताल से भागने की घटनाएं लगातार हो रही है। इन घटनाओं के बावजूद भी प्रशासन की लापरवाही जारी है। इंदौर के अरबिंदो अस्पताल से गायब हुई महिला का अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। महिला की जांच रिपोर्ट में कोरोनो पॉजिटिव आने के बाद पूरे महकमे में हड़कंप की स्थिति है। महिला द्वारा लिखवाया गया जूना रिसाला क्षेत्र का पता भी फर्जी निकला। इतना ही नहीं, जो मोबाइल नंबर उसने दर्ज करवाया था वह भी छत्तीसगढ़ के किसी दूसरे व्यक्ति का निकला है। अब पुलिस और प्रशासन के दल महिला को तलाशने में जुटे हैं। कोरोना पॉजिटिव होने की वजह से उसके अन्य लोगों में संक्रमण फैलाने का खतरा बना हुआ है। इस पूरे मामले में बड़ी लापरवाही यह भी रही कि आइसोलेशन वार्ड बनाए गए क्षेत्र में सुरक्षा के प्रबंध पुख्ता नहीं थे। वार्ड के सामने का क्षेत्र खुला होने के बाद भी वहां बैरिकेड्स नहीं लगाए गए थे। दो दिन पहले तक वहां आने-जाने वालों पर भी रोक नहीं थी। इसी का फायदा उठाकर महिला चुपचाप वहां से निकल गई। शिफ्टिंग की स्थिति का फायदा उठाकर भागी उधर, इस मामले में अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि शुक्रवार को जिन मरीजों की रिपोर्ट नहीं आई थी उन्हें दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट किया जा रहा था। शिफ्ट किए जाने वाले मरीजों में उक्त महिला भी शामिल थी। शिफ्टिंग की स्थिति का फायदा उठाकर महिला कब चुपचाप निकल गई किसी को पता नहीं चला। जैसे ही महिला के गायब होने का पता चला वैसे ही अस्पताल के स्टाफ ने महिला को खोजने का प्रयास किया। जब सफलता नहीं मिली तो स्वास्थ्य विभाग के साथ ही प्रहासनिक अधिकारियों को भी सूचना दी। पता नंबर सब गलत, स्वजन को भी तलाश नहीं पा रहे कोरोना पॉजिटिव युवती का पता और मोबाइल नंबर गलत होने के कारण उसके स्वजन को जांच दल तलाश नहीं पा रहे हैं। जूना रिसाला क्षेत्र में पुलिस के साथ ही स्थानीय लोगों की मदद से भी महिला को तलाशा जा रहा है, लेकिन उसके बारे में कोई जानकारी पुलिस-प्रशासन को नहीं मिली। उसे भगाने में किसी व्यक्ति ने मदद कर लिफ्ट दी थी। अस्पताल के एक डॉक्टर ने नाम प्रकाशित नहीं करने के अनुरोध पर कहा कि दो दिन पहले 13 लोग कोरोना निगेटिव आए थे। अस्पताल में केवल कोरोना पॉजिटिव को ही आइसोलेट करके रखा जा रहा है। भागने वाली महिला यलो जोन में थी, उसकी रिपोर्ट नहीं आई थी, इसलिए उसे दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया जाना था। डिस्चार्ज होने वाले मरीज एबुंलेंस में चढ़ गए, लेकिन महिला नहीं दिखी। वह डिस्चार्ज होने का फायदा उठाकर वहां से निकल गई। शाम को महिला की रिपोर्ट पॉजीटिव आई, जिसके बाद से अस्पताल प्रबंधन उसे ढूंढ रहा है। इस बारे में सीएसपी निहित उपाध्याय का कहना है कि महिला के पास न तो आधार कार्ड था। महिला ने किसी और का नंबर लिखवाया था। पता भी सही नहीं निकला। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर इसे तलाश कर अस्पताल में भर्ती करवाने का प्रयास कर रहे हैं। वहीं एडीएम बीबीएम तोमर का कहना है ‎कि महिला के गायब होने की सूचना मिली है, तलाश की जा रही है।