एंटी माफिया मुहिम में कांग्रेस नेता को टारगेट करने पर आक्रोशित कांग्रेसी शुक्रवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया का पुतला जलाने इंदरगंज चौराहा पहुंचे। सिंधिया का पोस्टर लगा पुतला जैसे ही सड़क पर खड़ा किया, तो मौजूद फोर्स में से एक पुलिसकर्मी आगे बढ़ा और पुतला उठाकर सड़क पर दौड़ लगा दी, पर चालाक कांग्रेसी पहले ही दो पुतले तैयार कर लाए थे। कांग्रेसियों ने कार से दूसरा पुतला निकालकर जला दिया। साथ ही, नारेबाजी भी की। पूरे शहर में 12 जगह और ग्रामीण क्षेत्र में 12 जगहों पर सिंधिया के पुतले जलाए गए हैं।

दो दिन पहले जिला प्रशासन ने शहर में एंटी माफिया एक्शन शुरू किया था। पहली कार्रवाई कांग्रेस नेता अशोक सिंह के परिवार से जुड़े बालाजी गार्डन थाटीपुर में की गई थी। इससे जिला कांग्रेस में नाराजगी थी। गुरुवार को आपात बैठक कांग्रेस कार्यालय में पूरे जिले में 24 ब्लॉक मतलब 24 स्थानों पर राज्ससभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया का पुतला दहन करने की योजना बनी थी, जिसमें शहर के 12 स्थान थे। शुक्रवार दोपहर शहर और देहात में एक साथ पुतला दहन किया जाना था। इंदरगंज चौराहा पर जैसे ही कांग्रेसी पुतला लेकर पहुंचे, वहां पहले से मौजूद पुलिस ने घेर लिया। कांग्रेसियों ने जैसे ही पुतला सड़क पर रखा, एक पुलिस जवान तेजी से झपटा और पुतला लेकर चौराहा से थाना की ओर दौड़ लगा दी। वहां मौजूद अन्य पुलिसकर्मी भी उसके पीछे भागे। पुलिस का सोचना था कि यहां पुतला दहन बचा लिया है और अब अफसरों से शाबासी मिलेगी, पर कांग्रेस पूरी तैयारी से आई थी। पास ही खड़ी कार से उससे भी अच्छा और बड़ा पुतला निकाला उसका दहन कर दिया। पुतला रखकर जब तक फोर्स लौटा, तो पुतला जल चुका था।

शहर में यहां जलाए पुतले

शहर के जिला अध्यक्ष देवेन्द्र शर्मा ने छप्परवाला पुल पर पुतला जलाया। इसके अलावा शहर के इंदरगंज चौराहा, माधवगंज चौराहा, मुरार बारादरी चौराहा, थाटीपुर चौराहा, हजीरा चौराहा, किलागेट चौराहा, फूलबाग चौराहा, बाड़ा सहित अन्य स्थानों पर पुतला दहन किया गया। इस मौके पर कोई विवाद न हो, इसलिए पुलिस फोर्स भी इन स्थानों पर अलर्ट रहा।

शनिवार को धरना

शनिवार को कांग्रेस धरना प्रदर्शन करेगी। कांग्रेसी दोपहर 12 से 2 बजे तक फूलबाग पर बैठकर शांतिपूर्ण ढंग से धरना प्रदर्शन करेंगे।