नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज हुई कैबिनेट बैठक हुई। आज की बैठक में कई अहम और एतिहासिक फैसले लिए गए हैं। आज ही से कंटेनमेंट जोन में पांचवें चरण का लॉकडाउन के साथ अनलॉक 1.0 भी शुरू हुआ है। मोदी कैबिनेट की यह बैठक इसलिये भी खास मानी जा रही थी कि हाल ही में मोदी सरकार 2.0 का पहला साल पूरा हो चुका है। कैबिनेट बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, नितिन गडकरी और नरेंद्र सिंह तोमर ने कैबिनेट में लिए गए फैसलों के बारे में जानकारी दी। कैबिनेट में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग की परिभाषा बदलने पर मुहर, साथ, एमएसमएई के लिए इक्विट स्कीम को भी कैबिनेट की मंजूरी मिल गई है। आत्मनिर्भर भारत के तहत आर्थिक पैकेज में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसका ऐलान किया था। रेहड़ी लगाने वालों के लिए भी क्रेडिट स्कीम को मंजूरी दी गई है।

  • सरकान ने किसानों के लिए बड़े फैसले किए हैं। न्यूनतम समर्थन मूल्य उसकी कुल लागत का डेढ़ गुना ज्यादा रखने का वादा सरकार पूरा कर रही है।
  • शहरी और आवास मंत्रालय ने विशेष सूक्ष्म ऋण योजना शुरू की है। ये रेहड़ी-पटरी वालों की मदद के लिए योजना है। इस योजना से 50 लाख लोगों को लाभ मिलेगा।
  • MSME की परिभाषा को और संशोधित किया गया है। संकट में फंसे MSME को मदद दी जाएगी।