ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के उभरते हुए युवा बल्लेबाज मार्नस लाबुशेन ने कहा है कि इस साल के अंत में भारतीय टीम के साथ होने वाली सीरीज आसान नहीं रहेगी। लाबुशेन ने कहा कि भारतीय टीम के पास जसप्रीत बुमराह और इशांत शर्मा सहित कई अच्छे गेंदबाज हैं। इसके बाद भी इस युवा बल्लेबाज को उम्मीद है कि वह दिसंबर में भारतीय टीम से होने वाले मुकाबले में अच्छा प्रदर्शन करने में सफल रहेंगे। अपनी पहली ही सीरीज में शानदार बल्लेबाजी कर सबका ध्यान खींचने वाले इस बल्लेबाज ने माना कि विश्व स्तरीय भारतीय गेंदबाजों में बुमराह का सामना करना सबसे कठिन रहेगा। 
26 साल के इस बल्लेबाज ने कहा, ‘‘ भारत के पास सभी अच्छे गेंदबाज हैं, पर बुमराह का सामना सबसे मुश्किल होगा। वह लगभग 140 किमी प्रति घंटे की गति से लगातार गेंदबाजी करने और हालात का साथ मिलने पर गेंद को स्विंग कराने में भी माहिर हैं।’’ लाबुशेन ने कहा, ‘‘आप हमेशा सर्वश्रेष्ठ के खिलाफ अपने को परखना चाहते हैं।’’ लाबुशेन ने 2018-19 की सीरीज में भारत के खिलाफ सिडनी में एक मैच खेला था।  इस बल्लेबाज ने अब तक खेले 14 टेस्ट में चार शतक और सात अर्धशतक के साथ 63 की औसत से रना बनाये हैं।  
लाबुशेन ने कहा कि अनुभवी इशांत ने भी पिछले दो सालों में काफी सुधार किया है। अभी के समय के सबसे प्रतिभाशाली बल्लेबाजों में से एक माने जाने वाले लाबुशेन ने कहा, ‘‘इशांत ने पिछले दो वर्षों में शानदार गेंदबाजी की है। दाएं हाथ के बल्लेबाजों के लिए उनकी गेंद अंदर की तरफ आती है, यह हमारे लिए भी एक अच्छी चुनौती होगी।’’ 
इस बल्लेबाज ने कहा, ‘‘पहला साल मेरे लिए शानदार रहा था। उम्मीद है कि इस साल मैं और भी अच्छा कर पाउंगा। किसी भी बल्लेबाज के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का दूसरा साल सबसे कठिन रहता है क्योंकि विरोधी टीमों को भी उसके खेलने का तरीका पता होता है और वे कमजोरी पर हमला करते हैं। इसलिए मैं विश्व की बेहतरीन टीम के सामने में अपनी क्षमताओं को आंकने का प्रयास कर रहा हूं। मुझे भारत के खिलाफ सिडनी में एक टेस्ट में खेलने का भी अनुभव है। उस मैच में और फिर बाद में सीमित ओवरों के मैचों में मैंने उनकी गेंदबाजी का सामना किया है उस अनुभव का भी मुझे लाभ मिलेगा। साथ ही कहा कि जब आप अच्छा करते हैं, तो लोग आपके खेल पर नजर भी रखते है। इसलिए आपको अपने खेल पर और ध्यान देना होता हैं। इसलिए मुझे यह पक्का करना होगा कि मैं भारतीय गेंदबाजों का बेहतर तरीके से सामना कर सकूं।’’