इंदौर.अमेरिका में न्यूयॉर्क (New york) के चिड़ियाघर (zoo) में एक बाघ के कोरोना पॉजिटिव (corona positive) पाए जाने के बाद सेंट्रल जू अथॉरिटी ने देश भर के सभी चिड़ियाघरों को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है. इसके बाद प्रदेश के सबसे बड़े इंदौर के चिड़ियाघर में विशेष एहतियात बरता जा रहा है. यहां पूरे प्रिकॉशन्स के साथ जानवरों की देखरेख की जा रही है.

सेंट्रल जू अथॉरिटी ने स्तनधारी जीवों खासकर बिल्लियों,नेवले और बंदरों पर बारीकी से नजर बनाए रखने के लिए कहा है. इसके साथ ही पालतू जानवरों की देखरेख करने वालों को भी सेनेटाइज रहने की जरूरत बताई गई है. जानवरों को छूने के तत्काल बाद अपने हाथों को सेनेटाइजर या साबुन से जरूर धोएं, क्योंकि कोरोना पीड़ित व्यक्ति से ये जानवरों में पहुंच सकता है. इसलिए किसी भी कोरोना संदिग्ध व्यक्ति से पालतू जानवरों को भी दूर रखना चाहिए.

इंदौर जू में खास एहितयात

अमेरिका में एक बाघ के कोरोना संक्रमित होने की सूचना ने तहलका मचा दिया है. इंदौर का चिड़ियाघर अभी तक कोरोना वायरस से जानवरों को बचाने में सफल रहा है. जू के प्रभारी डॉ. उत्तम यादव ने बताया कि ये संभव है कि इंसानों के माध्यम से जानवरों में भी कोरोना संक्रमण पहुंच सकता है. लेकिन हम पूरी सावधानी और सुरक्षा के साथ जानवरों की देखरेख कर रहे हैं. सेनिटाइजर,ग्लब्स समेत दूसरी उपयोगी चीजों का इस्तेमाल किया जा रहा है. जानवरों से भी सोशल डिस्टेंसिग का ख्याल रखा जा रहा है. सुबह शाम सभी जानवरों को चैक किया जा रहा है. कोई भी असामान्य लक्षण दिखाई देने पर उसका तत्काल डॉक्टरी चेकअप भी किया जा रहा है. फिलहाल जू के सभी जानवर स्वस्थ्य हैं.

सबसे पुराना इंदौर का जू

इंदौर का कमला नेहरू प्राणि संग्रहालय यानी चिड़ियाघर मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा और सबसे पुराना प्राणी उद्यान है. यह तकरीबन 4 हजार वर्ग मीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है. कमला नेहरू प्राणि संग्रहालय भारत के कुल 180 मान्यता प्राप्त चिड़ियाघरों में से एक है.यहां दुनिया के विभिन्न देशों और शहरों से जानवरों और पक्षियों को लाया गया है. इसमें देशी और विदेशी दोनों तरह के पशु पक्षी शामिल हैं. अभी हाल ही में यहां स्नेक हाउस भी बनाया गया है जिसमें दुनिया के सबसे खतरनाक सांप रखे गए हैं. इनमें 15 प्रजाति के 30 जहरीले सांप शामिल हैं.