मेलबर्न । आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज जॉर्ज बैली ने 2015 विश्व कप में महज एक ही मैच खेला था, लेकिन उनके एक सुझाव ने टीम के लिए करिश्माई काम किया था। वहां जॉर्ज बैली ही थे, जिन्होंने यह अंदाजा लगा लिया कि आस्ट्रेलिया के लिए स्टीव स्मिथ वहां बल्लेबाज हैं जो 50 ओवर के मैच में पारी संभाल सकते हैं और उन्हें शीर्ष क्रम में खिलाना चाहिए। इस विश्व कप से पहले तक स्टीव स्मिथ आमतौर पर निचले क्रम में बल्लेबाजी के लिए मैदान में उतरते थे। हालांकि बल्लेबाजी क्रम में बदलाव के बाद स्टीव स्मिथ की बैटिंग का अलग ही रंग देखने को मिला। 
इस बारे में जॉर्ज बैली ने बताया कि हमने जिम्बाब्वे में स्टीव स्मिथ का इस्तेमाल छठे और सातवें नंबर पर किया था। उन तीन मुकाबलों में हमने मिचेल मार्श को शीर्ष क्रम में खिलाया। तब मैंने सुझाव दिया कि स्मिथ को तीसरे नंबर पर उतारा जाएं। मैंने कहा कि मिचेल मार्श 50 ओवर तक बल्लेबाजी नहीं कर सकते, लेकिन ये काम स्मिथ बखूबी कर सकते हैं। मार्श आखिरी ओवर में उपयोगी साबित हो सकते हैं, मेरे इस सुझाव को मान लिया गया, जिसने विश्व कप में काफी मदद की। 
स्टीव स्मिथ ने 2015 विश्व कप में आठ मैच खेले थे, जिनमें उन्होंने 67 के बेहतरीन औसत से 402 रन बनाए थे। इसमें स्मिथ के बल्ले से एक शतक और चार अर्धशतक भी निकले। इस विश्व कप में स्टीव स्मिथ आस्ट्रेलिया की ओर से सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे। यहां तक कि उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेले गए फाइनल मुकाबले में भी अर्धशतक लगाया था। स्मिथ ने इस मैच में 71 गेंद पर 56 रनों की पारी खेली थी. आस्ट्रेलिया ने ये मैच 7 विकेट से जीता था।