हिंदू धर्म में नवरात्रि के व्रत को विशेष महत्व दिया गया हैं नवरात्रि के दिनों में माता पृथ्वी पर होती हैं इसलिए इन दिनों देवी मां को प्रसन्न करना बहुत ही सरल माना जाता हैं। इस बार 25 मार्च दिन बुधवार से देवी मां का पावन पर्व नवरात्रि आरंभ हो रहा हैं

 
नवरात्रि के दिनों में आपकी इच्छाएं क्या हैं इस बात को ध्यान में रखकर मंत्रों का जाप अवश्य करें। देवीभागवत् पुराण में कुछ ऐसे मेंत्रों का वर्णन किया गया हैं जिनसे देवी मां सरलता से प्रसन्न होकर भक्तों की इच्छानुसार आशीर्वाद प्रदान कर सकती हैं तो आज हम आपको देवी मां के मंत्रों के बारे में बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।
 
अगर आप धन संबंधी परेशानियों से बुरी तरह परेशान हैं और अपनी गरीबी दूर करना चाहते हैं तो नियमित रूप से माता के इस सिद्ध मंत्र का जाप अवश्य करें। दुर्गे स्मृता हरसि भीतिमशेषजन्तोः। सवर्स्धः स्मृता मतिमतीव शुभाम् ददासि।।

वही संतान सुख प्राप्त करना चाहते हैं तो नियमित रूप से इस मंत्र का जाप करें।
सर्वाबाधा वि निर्मुक्तो धन धान्य सुतान्वितः। मनुष्यो मत्प्रसादेन भवष्यति न संशय॥

 
इन दिनों आपका बुरा समय चल रहा हैं और बार बार संकट में फंस जा रहे हैं तो देवी मां के इस मंत्र का जाप आपको परेशानियों से निकला सकते हैं।
शरणागतदीनार्तपरित्राणपरायणे। सर्वस्यार्तिहरे देवि नारायणि नमोऽस्तु ते।।

वही ऐश्वर्य से भरपूर जीवन प्राप्त करना चाहते हैं तो देवी मां के इस सिद्ध मंत्र का जाप अवश्य करें।
ऐश्वर्य यत्प्रसादेन सौभाग्य-आरोग्य सम्पदः। शत्रु हानि परो मोक्षः स्तुयते सान किं जनै।।